कर्फ्यू में ज्यादा छूट न मिलने का किया विरोध व्यपारियो का गुस्सा फूटा कांग्रेस के साथ व्यापारियों ने फूंका सरकार का पुतला ब्यूरो रिपोर्ट

3 months ago 1159

कोविड कर्फ्यू को लेकर सरकार की ओर से जारी की गई एसओपी से खफा महानगर दून व्यापार प्रकोष्ठ ने सोमवार को महानगर कांग्रेस के साथ प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसके बाद सरकार का पुतला फूंका गया। महानगर कांग्रेस के अध्यक्ष लालचंद शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्त्ता और महानगर दून व्यापार प्रकोष्ठ से जुड़े व्यापारी सुबह 11 बजे राजपुर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय में एकत्र हुए। यहां सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सरकार के पुतले को आग के हवाले किया गया।

महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि कर्फ्यू सिर्फ आमजन को तंग करने के लिए लगाया जा रहा है। उन्होंने पूछा कि क्या शराब के ठेके खोलने से कोरोना नहीं फैलेगा। व्यापारियों को अपेक्षित छूट नहीं दिए जाने की क्या वजह है, जबकि मदिरा की दुकानों को ज्यादा तरजीह दी गई है। इससे सरकार क्या साबित करना चाहती है। कोविड कफ्यरू को 15 जून तक बढ़ाने का जो आदेश जारी किया गया है, उसके अनुसार कुछ दुकानें पूरे हफ्ते में सिर्फ एक दिन वह भी मात्र पांच घंटे के लिए खुलेंगी।

बर्तन, क्राकरी, प्लाईवुड, सैनिटरी, रेस्टोरेंट, बार्बर शॉप इत्यादि का एसओपी में जिक्र तक नहीं है। उन्होंने सरकार से पूछा कि क्या इन दुकानदारों को रोजी-रोटी कमाने का हक नहीं है। इनके व्यापार को लेकर सरकार की क्या योजना है या फिर जल्दबाजी में सरकार इनको भूल गई। उन्होंने कहा कि सरकार को कर्फ्यू के बारे में फिर से विचार करना चाहिए।

दून महानगर व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सुनील कुमार बांगा ने कहा कि सरकार व्यापारियों का ध्यान रखते हुए कोविड कर्फ्यू में ढील दे। जिन प्रतिष्ठानों को खोलने का जिक्र सरकार के आदेश में नहीं है, उन्हें संशोधित आदेश में शामिल किया जाए। सभी प्रतिष्ठानों को बीते वर्ष की तरह एक दिन छोड़कर खोलने की अनुमति मिले।

Post Views: 32

Read Entire Article

Our Ventures